Essay On Independence Day In Hindi 2019

Essay On Independence Day In Hindi 2019

Essay On Independence Day In Hindi 2019 (15 अगस्त पर निबंध) आज के इस आर्टिकल में आप सभी भारत वासियों का happyindependencedaysms .com की तरफ से तह दिल से स्वागत है|

तो चलिए दोस्तों ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए Essay On Independence Day In Hindi  2019के इस आर्टिकल को प्रारंभ करते हैं, और 15 अगस्त पर निबंध को तैयार करते हैं|

Essay On Independence Day In Hindi

Essay On Independence Day In Hindi 2019 – स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

 

स्वातंत्रता दिवस हर वर्ष 15 अगस्त की तिथि को मनाया जाता है । 15 अगस्त, 1947 के दिन भारत ने अंग्रेजी उपनिवेश की जकड़नों को तोड़कर स्वतंत्रता का नवप्रभात देखा था । यह स्वर्णिम दिन लगभग सवा सौ वर्षो तक चले अनवरत संघर्ष के बाद आया । इसके बाद देश की छवि बदली और नवनिर्माण का दौर आरंभ हुआ । स्वतंत्र भारत आज दुनिया के विकसित देशों की पंक्ति में खड़ा होने के लिए लालायित दिखाई दे रहा है ।

स्वतंत्रता दिवस संपूर्ण राष्ट्र का उत्सव है । इस दिन को पूरे राष्ट्र में बहुत उल्लास के साथ मनाया जाता है । राष्ट्र के स्वाभिमान का प्रतीक तिरंगा झंडा समारोहपूर्वक फहराया जाता है । स्वतंत्रता दिवस के सरकारी और गैर-सरकारी कार्यक्रमों में जनता बढ़-चढ़कर भागीदारी करती है । ‘ जन-गण-मन ‘ ,’ वंदे मातरम्’ और ‘ जय हिंद ‘ के स्वरों से आसमान गुंजित हो उठता है । देशभक्ति के गीतों को सुनकर लोगों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं । लोग देश की स्वतंत्रता को बनाए रखने के लिए संकल्पित दिखाई देते हैं ।

राजधानी दिल्ली में हर वर्ष पंद्रह अगस्त के दिन भव्य समारोह होता है । लाल किला तथा इसका पूरा परिक्षेत्र विशेष रूप से सजा- धजा और समारोह के लिए तैयार दिखाई देता है । प्रात : साढ़े सात बजे देश के प्रधानमंत्री यहाँ आकर ध्वजारोहण करते हैं । जन-गण-मन की धुन बज उठती है । फिर प्रधानमंत्री राष्ट्र को संबोधित करते हैं । इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण रेडियो और टेलीविजन पर किया जाता है ।

प्रधानमंत्री अपनी सरकार की उपलब्धियाँ गिनाते हैं । वे सरकार के आगामी कार्यक्रमों के बारे में बताते हैं । उपस्थित दर्शक नेतागण राजदूत विशिष्ट अतिथिगण उनकी बातें ध्यानपूर्वक सुनते हैं । प्रधानमंत्री तीन बार ‘ जय हिंद ‘ बोलकर अपना भाषण समाप्त करते हैं । तब यह समारोह समाप्त हो जाता है ।

Read Also – Short Speech On Independence Day 

Essay On Independence Day In Hindi – स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

15 अगस्त भारतवर्ष का एक राष्ट्रीय त्यौहार है । 15 अगस्त, 1947 का दिन भारत देश के इतिहास में स्वर्णाक्षरों से लिखा गया है । इस शुभ दिन हमारा देश सैकड़ों वर्षों की अंग्रेजी पराधीनता से स्वतंत्र हुआ था । तभी से भारत के करोड़ों नागरिक इस त्यौहार को ‘स्वतंत्रता-दिवस’ के रूप में बड़े हर्षोल्लास से मनाते हैं ।

इस अवसर पर सभी विद्यालय, कार्यालय, कारखाने, संस्थान और बाजार बन्द रहते हैं । इस दिन प्रत्येक वर्ष भारतवर्ष की राजधानी दिल्ली में लालकिले की प्राचीर पर प्रधानमंत्री राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं तथा देशवासियों के नाम सन्देश देते हैं । राष्ट्रीय ध्वज को 21 तोपों की सलामी दी जाती है, तत्पश्चात् राष्ट्रगान होता है ।

स्वतंत्रता तथा समृद्धि का प्रतीक यह दिवस भारत के कोने-कोने में बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है । 15 अगस्त की सुबह राष्ट्रीय स्तर के नेतागण पहले राजघाट आदि समाधियों पर जाकर महात्मा गांधी आदि राष्ट्रीय नेताओं तथा स्वतंत्रता-सेनानियों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं फिर लाल किले के सामने पहुंच कर सेना के तीनों अंगों (वायु, जल व स्थल सेना) तथा अन्य बलों की परेड का निरीक्षण करते हैं तथा उन्हें सलामी देते हैं ।

15 अगस्त को सभी सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है तथा सभी लोग अपने घरों व दुकानों पर राष्ट्रीय-ध्वज फहराते हैं । इस दिन रात्रि के समय सरकारी कार्यालयों व अनेक विशेष स्थानों पर विद्युत-प्रकाश किया जाता है ।

इसकी सुन्दरता के कारण भारत की राजधानी दिल्ली एक नव वधू सी लगने लगती है । सभी स्कूलों व कॉलेजों में यह पर्व एक दिन पूर्व अर्थात् 14 अगस्त को ही मना लिया जाता है । इस दिन स्कूलों में बच्चों को फल, मिठाइयां आदि वितरित की जाती हैं ।

15 अगस्त भारत के गौरव व सौभाग्य का पर्व है । यह पर्व हम सभी के हृदयों में नवीन स्कूर्ति, नवीन आशा, उत्साह तथा देश-भक्ति का संचार करता है । यह स्वतंत्रता-दिवस हमें इस बात की याद दिलाता है कि इतनी कुर्बानियां देकर जो आजादी हमने प्राप्त की है, उसकी रक्षा हमें हर कीमत पर करनी है ।

चाहे हमें उसके लिए अपने प्राणों की आहुति ही क्यों न देनी पड़े । इस प्रकार पूरी उमंग और उत्साह के साथ इस राष्ट्रीय पर्व को मनाकर हम राष्ट्र की स्वतंत्रता तथा सार्वभौमिकता की रक्षा का प्रण लेते हैं ।

सदियों की गुलामी के पश्चात 15 अगस्त सन् 1947 के दिन आजाद हुआ। पहले हम अंग्रेजों के गुलाम थे। उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाईं और अंतत: आजादी पाकर ही चैन ‍लिया। इस दिन हमारा देश आजाद हुआ, इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं।

 

Essay On Independence Day In Hindi

 

Swatantrata Diwas in Hindi Essay

मेरे प्यारे दोस्तों, Essay On Independence Day In Hindi का यह आर्टिकल यही खत्म होता है| और अगर आपको 15 August Essay In Hindi का लेख पसंद आया है तो आप इस लेख को अपने विद्यालय या कॉलेज में भाषण के रूप में बोल सकते हैं|

अगर आपको हमारा यह Essay On Independence Day In Hindi आर्टिकल पसंद आया है तो अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ जरुर शेयर करें और नीचे कमेंट में जरूर बताएं कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा|

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *